Sunday, September 27, 2015

शैलेन्द्र शर्मा का नवगीत

अवनीश सिंह चौहान मैंने जिस गुटबंदी की ओर संकेत किया था उसकी एक परत खुलकर आई। अभी कई और परतें हैं जो सामने आएंगी।

-अवनीश सिंह चौहान
July 20 at 1:45pm

No comments: