Friday, September 25, 2015

शैलेन्द्र शर्मा का नवगीत

आदरणीय भाई श्री अवनीश सिंह चौहान जी निवेदन है कि सार्थक आलोचना करके मार्गदर्शन प्रदान करने की कृपा करें। ताकि कुछ मानक और सीमाएं निर्धारित हो सके और आलोचना की दिशा तय की जा सके। धन्यवाद

-ब्रजनाथ श्रीवास्तव
July 18 at 8:13am

No comments: