Friday, September 25, 2015

योगेन्द्र दत्त शर्मा का नवगीत

संवेदनशील मनुष्य की विवशता को मुखर करता कठिन समय का नवगीत है।

-भारतेन्दु मिश्र

No comments: