Sunday, September 27, 2015

माहेश्वर तिवारी का साक्षात्कार

जगदीश व्योमजी, पिछले दिनों विमर्श के समूह में इन्हीं विन्दुओं पर हम सबने खुल कर बातें की थीं, आ. माहेश्वर तिवारीजी का उन विशिष्ट विन्दुओं पर तार्किक तौर पर स्पष्ट होना संतुष्ट करता है।

-सौरभ पाण्डेय
August 24 at 10:10am 

No comments: