Saturday, August 29, 2015

रामशंकर वर्मा

नवगीत के विश्लेषण और परख पर मेरा अधिक अधिकार नहीं है। पर एक सुंदर प्रवाहमान सांगीतिक लय के साथ मुझे नवगीत का साक्षात्कार हो रहा है। गीत की उदात्तता और नवगीत के विम्ब लिए एक खूबसूरत नवगीत। कम से कम मैं तो अभी इतना सुंदर नवगीत नहीं लिख पाया हूँ।

-रामशंकर वर्मा
July 8 at 5:57pm

No comments: